विरान दिखने लगा है वाचस्पतिनगर रेलवे स्टेशन


बिन्देश्वर चौधरी : अंधराठाढ़ी मेगा ब्लाक के बाद वाचस्पतिनगर रेलवे स्टेशन विरान है. यही स्थिति प्रखंड के महरैल स्टेशन और चंदेश्वर स्थान हाल्ट की भी है.
बताते चले कि झंझारपुर लौकहा रेल खंड को व्रोडगेज लाइन में बदलने के लिए रेलवे विभाग ने छोटी लाइन को मेगा ब्लाक किया था. वाचस्पतिनगर रेलवे स्टेशन प्रखंड मुख्यालय में है.
मेगा ब्लाक के पहले दोनों स्टेशन और चंदेश्वर स्थान हाल्ट हमेशा गुलजार रहता था. यात्रियों के शोरगुल में डूबे रहते थे. मेगा ब्लाक के बाद विरान दिखते है. गाड़ियो के चलते रहने से स्टेशन के आस-पास नाश्ता चाय पान की दुकाने चलती रहती थी. टेम्पू बस रिक्शा चालक का परिवार भी पलता था. सवों का रोजी रोजगार बाधित है. तकरीवन ढाई दर्शको से रेलवे प्लेटफार्म पर नाश्ता चाय की दुकान चलाने वाले विश्वनाथ चौधरी ने बताया कि मेगा ब्लाक के बाद से वे वेकार हो गए है. अब परिवार पोषण में भी दिक्कत होने लगा है. यही कहना स्टेशन के वाहर भी दुकान चला रहे लोगो की थी.

इस क्षेत्र में अफवाह है कि वाचस्पतिनगर रेलवे स्टेशन ब्राड गेज लाइन में हाल्ट बन जायेगा. इससे यहाँ के लोग दुखी है. हालांकि इसकी कोई विभागीय पुष्टी नहीं हुई है. जानकार लोगो के अनुसार यह अफवाह गैर तार्किक भी है.

मधुबनी मीडिया की खबरों के लिए पेज Like करें.


मेगा ब्लाक के बाद प्रखंड परिक्षेत्र के रेलवे स्टेशनों और हाल्ट के रेल उखड़ रहे है. रुट से  ढोहकर इकट्टा किया जा रहा है. लोग वेसब्री से आमान परिवर्तन पूर्ण होने और दूर की गाडियो पर सवारी करने का इंतजार कर रहे है. 

Comments

Popular posts from this blog

कबड्डी टूर्नामेन्ट का होगा आयोजन :खेल

लव सेक्स और धोखा, भाजपा विधायक के भाई पर आरोप

मजनू मुक्त समाज बनाने में जुटा है हरलाखी विधानसभा : सामाजिक