Latest

ऑर्ट फेस्टीवल वर्कशॉप के चित्रकला में कई बच्चे हुए पुरस्कृत


झंझारपुर (मधुबनी), सरफराज सिद्दीकी : ऑर्ट फेस्टीवल वर्कशॉप के नाम से एक सरिसब-पाही के गंगाआश्रम में चित्रकला कार्यशाला का आयोजन किया गया. इस मौके पर सिक्की कला के लिए प्रांतीय व राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित नूना खातून ने कहा कि हस्तकला के माध्यम इंसान जो चाहे पा सकता है. दुनियाँ के लिए जो सिक्की घास फूस है मेरे लिए वो मोतियों से बढ़कर है. उन्होनें सभी इच्छुक बच्चों को मुफ्त में इस कला सिखाने का आश्वासन दिया. इस आयोजन के प्रतिभागियों में कक्षा नर्सरी से कक्षा बारहवीं तक के विद्यार्थी शामिल किए गए थे. इसमें प्रतिभागियों को कल्पना की पूरी छूट लेकर चित्रांकन के लिए प्रोत्साहित किया गया. इस कार्यशाला में कुल 62 प्रतिभागी शामिल हुए. कक्षा नर्सरी से कक्षा चार तक की श्रेणी में ऋषा झा, मानस कुमार और प्रियांशी कुमारी, कक्षा पाँच से कक्षा आठ की श्रेणी में प्रशांत कुमार, आयुषी कुमारी और कुंदन कुमार गुप्ता तथा कक्षा नौ से कक्षा बारहवीं की श्रेणी में नैना, जया झा और राधा झा ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त किया. सीकी आर्ट में अपार ख्याति अर्जित नूना खातून को विशिष्ट अतिथि के रूप में सम्मानित किया गया। बॉल पेन ऑर्ट, वर्ली ऑर्ट और सीकी ऑर्ट के आर्टिस्ट  चन्द्रनाथ झा ने प्रतिभागियों को आँका और प्रोत्साहित भी किया. साहित्याङ्गण के मलयनाथ मण्डन ने और पुनर्नवा के सदस्य-सह-स्तंभ मुकेश कुमार मिश्र और प्रदीप कुमार झा मोनू ने इस अनूठी कार्यशाला का स्वागत और प्रशंसा की. मनोवैज्ञानिक पद्म पाल मिश्रा ने अपनी उपस्थिति से कार्यशाला के आयोजन में चार चाँद लगाया. इस पूरी कार्यशाला की परिकल्पना और उसका आयोजन कन्टेम्पररी आर्टिस्ट सौरभनाथ झा के द्वारा किया गया. उनके शब्दों में, बच्चों के अंदर छिपे कला और कलाकार को उजागर करना ही इस कार्यशाला का मुख्य-उद्देश्य है. कार्यक्रम का सह संयोजन सुप्रिया झा और श्वेता झा ने किया. इस मौके पर धर्म नाथ झा, विजय कुमार मिश्र, उमाकान्त ठाकुर, ऋषि नाथ झा, संदीप कुमार बर्णबाल, श्रीराम झा, भरत झा सहित कई अन्य लोग मौजूद थे.

No comments