Latest

दहेज मुक्त मिथिला के लिए मिनी मैराथन दौड़ का हुआ आयोजन


राहुल झा : शनिवार को दहेज मुक्त मिथिला के बैनर तले 25 किलोमीटर की मिनी मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की शुरुआत बेनीपट्टी के उच्चैठ मंदिर प्रांगण से हुई जो कि मधुबनी में जाकर खत्म हुई. बेनीपट्टी से मधुबनी के बीच जगह-जगह चौक चौराहों पर रुककर मैराथन में भाग ले रहे दहेज मुक्त मिथिला के पदाधिकारी व कार्यकर्ता दहेज कुप्रथा के खिलाफ लोगों को जागरूक किया. 

इससे पहले सुबह 6.30 बजे बेनीपट्टी एसडीपीओ निर्मला कुमारी ने मिनी मैराथन कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. मौके पर अपने संबोधन में एसडीपीओ निर्मला कुमारी ने कहा कि आज के युग में लड़का व लड़की का दर्जा एक समान है. जो भी दहेज की मांग करता है, वैसे लोगों का सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए, ताकि समाज में जागरुकता आ पायें. साथ ही उन्होंने कहा कि दहेज सभ्य समाज के लिए एक खतरनाक अभिशाप बन गया है. आज कल के युवाओं को ही इस कुप्रथा के खिलाफ आवाज बुलंद करनी होगी. तब जाकर ये अभिशाप खत्म हो पायेगा. हर युग में व्याप्त कुप्रथा के खिलाफ आवाज उठाने पर ही कुप्रथा खत्म हुई है. दहेज के कारण हर वर्ष हजारों-लाखों लड़कियों की हत्या की जाती है. आज के युग में लड़के व लड़की में कोई फर्क नहीं है, फिर भी ये दहेज जैसी कुप्रथा हमारे समाज में विष फैला रही है. 

वहीं 25 किलोमीटर की मैराथन दौड़ पूरी करने के बाद मधुबनी  समाहरणालय में जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने मुख्य धावक आरके दीपक सहित सभी धावकों व कार्यकर्ताओं को माला पहनाकर हौसला आफजाई किया. डीएम ने दहेज मुक्त मिथिला संस्था के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि दहेज प्रथा को समाज में एकरूपता को खत्म कर रहा है. हर युवा को आगे आकर दहेज ओर दहेज प्रथा का विरोध करना चाहिए.

मधुबनी मीडिया की खबरों के लिए पेज Like करें.


कार्यक्रम का समापन वाटिका होटल में किया गया. जहां मौके पर दहेज मुक्त मिथिला व कार्यक्रम के संयोजक प्रवीण नारायण चौधरी, धर्मेंद्र झा, रवि झा, अखिलेश मिश्र, अजय कुमार झा ने जिले के प्रशाशनिक पदाधिकारियों सहित दौड़ में भाग लेने वाले लोगों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि बारिश के वाबजूद भी लोगों ने सड़क पर आकर इस अभियान का समर्थन किया है, अधिक संख्या में महिलाएं इसके विरोध में आगे आ रही हैं. अगर सभी को संगठित कर एक दिशा दी जाय तो निश्चित है कि अभिशाप रूपी इस दहेज प्रथा खत्म हो जाएगा. मौके पर रूबी दीपक, कौशल किशोर चौधरी, जयराम यदुवंशी, मुखिया महासंघ के जिलाध्यक्ष कृपानंद झा आज़ाद, जदयू जिलाध्यक्ष अब्दुल कयूम, कांग्रेस जिलाध्यक्ष शितलाम्बर झा, जदयू नेता नीरज झा, अजित आज़ाद, अमरेश झा, प्रभाष झा सहित कई लोग मौजूद थे.

No comments