Latest

जितना रुपया सर्वश्रेष्ठ सांसद के स्वागत समारोह पर खर्च किया गया, उतना रुपया का भी अलग से काम नहीं किया गया इस आदर्श ग्राम पंचायत पर


न्यूज़ डेस्क ,पटना 
यह इस वर्ष के सर्वश्रेष्ठ सांसद हुकुमदेव नारायण यादव का गोद लिया हुआ गांव है ! प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सांसद महोदय ने दामोदर पुर पंचायत को गोद लिया ! यह बात दीगर है की सांसद महोदय गांव को गोद लेने के बाद कभी लौट कर नहीं आये है ! यह गांव मधुबनी जिला मुख्यालय से तिस किलोमीटर की दुरी पर स्थित बेनीपट्टी अनुमंडल मुख्यालय से महज दो किलोमीटर कि दूरी पर अवस्थित है !

दामोदर पुर गांव में प्रवेश करते ही बदहाली का नजारा दिखाई देने लगता है ! दरअसल गांव में प्रवेश करने से पहले एक पुल है जो टूट चुका है ! पुल का दिवार किसी खंडहर के समान दिखाई देता है ! लोग जान हथेली पर लेकर पुल पार करते है ! गाँव मे ना पक्की सड़क ना नाली ना ही रोजगार का कोई अवसर है ! इस आदर्श गांव में रोजगार के नाम पर एक छोटा सा पान का दूकान है जो गांव का दिशा और दशा दिखाने के लिए काफी है ! ग्रामीण ने बताया की इस गांव का मजाक बना दिया गया है एक बार बगल में सड़क उद्घाटन करने पहुंचे थे पर दूर से हाथ जोड़कर निकल गए !

लगभग पंद्रह हजार की आवादी वाले इस गांव में 6700 वोटर है ! जिसमें काफी संख्या में वोटरों ने हुकुमदेव नारायण यादव को वोट भी किया लेकिन वे वोटर अब अफ़सोस कर रहे है ! स्थानीय छात्र बी जे विकाश ने बताया हुकुमदेव नारायण यादव इस वर्ष के सर्वश्रेष्ठ सांसद है यह उनका भाग्य है और इस पंचायत का दुर्भाग्य है की वे इस पंचायत के भी सांसद है ! उन्होंने गोद शब्द को मजाक बना दिया लोगो ने जितना रुपया उनके सम्मान समारोह में खर्च किया था सांसद ने अलग से उतना रुपया भी इस पंचायत पर खर्च नहीं किया है ! 

सवाल बड़ा है कभी काला धन कभी सांसद आदर्श ग्राम योजना के नाम पर जनताओ को अपने साथ जोड़ने वाले प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के सांसद कभी क्षेत्र में नहीं आते-जाते है ! गोद लेने की फॉरमिलटी तो सांसद ने किया लेकिन कभी गांव जाना भी मुनासिब नहीं समझे, ऐसे में आने वाले चुनाव में लोगो को नए घोषणा या नये प्रत्याशी का इन्तजार है !

No comments