तो क्या सरकार इंजीनियरिंग कमीशन के साथ ही अभियंत्रण सुरक्षा बल का गठन करेगी

न्यूज़ डेस्क पटना


इण्डियन इन्जीनियर्स फेडरेशन (पूर्वी) के उपाध्यक्ष एवं बिहार अभियन्त्रण सेवा संघ के पूर्व महासचिव डा सुनील कुमार चौधरी ने  केन्द्रीय बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बजट देश के इंफ्रास्ट्रक्चर विकास को बूस्टर डोज देने का काम करेगा, साथ ही युवाओं को कई मौके देने का काम करेगा । यह बजट विकसित भारत के विराट संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा।  ये बजट आज की आकांक्षी समाज, गांव, गरीब, किसान, मध्यम वर्ग सभी के सपनों को पूरा करेगा।वर्ष 2014 की तुलना में इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश पर 400% से ज्यादा की वृद्धि  एवं इस बार इंफ्रास्ट्रक्चर पर 10 लाख करोड़ रुपये का अभूतपूर्व निवेश के कारण अभियंताओ का देश के विकास में  भूमिका पहले से भी ज्यादा बढ जायेगी। इस बजट में पहली बार अनेक प्रोत्साहन योजना लाइ गई है जिससे करोड़ों विश्वकर्माओं के जीवन में  बदलाव आयेगा।ऐसे लोगों के लिए ट्रेनिंग, टेक्नोलॉजी, क्रेडिट, और मार्केट सपोर्ट की व्यवस्था की गई है।  उन्होने बताया कि यह बजट नये भारत के आत्मविश्वास को उजागर करने वाला है।डा चौधरी ने आगे कहा कि  चुनौतियों के बावजूद  सरकार ने बजट को ट्रांसपेरेंट बनाने पर ज़ोर दिया है।उन्होने कहा कि  ये बजट असाधारण परिस्थितियों के बीच पेश किया गया है जिसमे यथार्थ का अहसास और विकास का विश्वास भी है ।इसमें ग्रोथ के लिए नए अवसर, नई संभावना का विकास करना, मानव संसाधन को नया आयाम देना है ।बजट में विनिर्माण पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने, अनुसंधान व विकास को बढ़ावा देने और प्रौद्योगिकियों को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया गया है।  ।परन्तु जिन अभियंताओ के बल पर देश के विकास का डंका पूरी दुनिया मे बज रहा है ,उनके हितो की अनदेखी की गई है।अगर देश को विकसित देशो की कतार मे खडा करना है तो इन्फ्रास्टक्चर के विकास की कमान अभियंताओ के हाथ मे सौपनी होगी।बजट का फोकस  अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के  लिए इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर पर होना विकास मे अभियंताओ की भूमिका की स्वतः व्याख्या करता है। अतः अभियंताओ के मांगो की अनदेखी कर एवं उनके मान सम्मान की रक्षा किए  बगैर देश के चहुमुखी विकास  की कल्पना नहीं की जा सकती है। अभियंताओ की अपेक्षा है कि सरकार देश हित एवं राज्य हित में  इन्जीनियरिन्ग कमीशन गठित करे।इससे इन्जीनियरो की क्षमता का बेहतर उपयोग हो सकेगा,अभियंत्रण सेवा जन केन्द्रित बन सकेगा,अभिनव तकनीक के प्रयोग को बल मिलेगा एवं देश तथा राज्य के चहुमुखी विकास को रफ्तार मिल सकेगा।उन्होने अभियंताओ को भयमुक्त वातावरण में कार्य करने हेतु अभियन्त्रण सुरक्षा बल के गठन की आवश्यकता पर भी बल दिया ।

Comments

Popular posts from this blog

लव सेक्स और धोखा, भाजपा विधायक के भाई पर आरोप

कबड्डी टूर्नामेन्ट का होगा आयोजन :खेल

मजनू मुक्त समाज बनाने में जुटा है हरलाखी विधानसभा : सामाजिक