मधुबनी जिले के एक सिधस्त और पत्रकारिता जगत के हस्ताक्षर नहीं रहे



न्यूज डेस्क पटना 

मधुबनी जिले के एक सिधस्त और पत्रकारिता जगत के हस्ताक्षर रामानन्द सिंह जी के देहांत से पूरे मीडिया जगत में शोक की लहर है। मधुबनी जिले में पत्रकारिता के भीष्म पितामह कहे जाने वाले रामानन्द सिंह के निधन से ना सिर्फ़ स्थानीय पत्रकारों में बल्कि बुद्धिजीवी वर्गों में भी शोकाकुल माहौल व्याप्त है।

रामानंद सिंह जी का जाना सूर्य अस्त होने जैसा है। बता दें की रामानंद सिंह जी ने अपने करियर की शुरुआत एक अभियंता के रूप में की थी.... रामानंद सिंह का जन्म 12जनवरी 1939 में मधुबनी जिले के राजनगर प्रखंड स्थित नकटी गाँव में हुआ था, उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा रामेश्वर उच्च विद्यालय राजनगर से की, वर्ष 1958 में इसी विद्यालय से उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण की साथ ही 1962 ई में रामकृष्ण महाविद्यालय से स्नातक की डिग्री ली.... साल 1964 में रामानन्द सिंह जी दिल्ली से सिविल इंजीनियरिंग का डिग्री लेकर करियर की शुरुआत की, लेकिन उनका मन उस पेशा में नहीं रमा..... फिर वो उत्तरप्रदेश के कानपुर से दैनिक भास्कर से जुड़ गए जिसके बाद प्रदीप सर्चलाइट नामक पेपर से जुड़े..... वर्ष 1968 में रामानंद सिंह अपने होमटाउन मधुबनी आए और हिंदुस्तान दैनिक समाचार पत्र से जुड़ गए जो 2017 तक प्रभारी पद पर जुड़े रहे...

वरिष्ठ पत्रकार रामानंद सिंह का जाना मधुबनी पत्रकारिता जगत के एक युग के समाप्त होने जैसा है, जिसकी भरपाई फिलहाल होता नहीं दिख रहा.... पत्रकार रामानंद सिंह के निधन पर मधुबनी मीडिया की ओर से श्राद्ध सुमन अर्पित...

Comments

Popular posts from this blog

कबड्डी टूर्नामेन्ट का होगा आयोजन :खेल

मजनू मुक्त समाज बनाने में जुटा है हरलाखी विधानसभा : सामाजिक

लव सेक्स और धोखा, भाजपा विधायक के भाई पर आरोप