Latest

बालिका गृह से रोने की आती है आवाज स्थानीय लोगों ने आला अधिकारियों से किया शिकायत


न्यूज़ डेस्क, पटना
मधुबनी बालिका गृह मामला मे नया मोड़ सामने आया है दरअसल मुहल्ले के निवासी ने शिकायत किया है की रात होते ही बच्चियों को चिल्लाने की आवाज़ आने लगती है ! देर रात को बड़ी बड़ी गाड़ी बालिका गृह मे प्रवेश करती है और डेढ़ दो घंटे मे वापस लौट जाती है ! बच्चिया खिड़की खोलकर अजीब अजीब हरकत करती है ! लड़कियों को देखकर उन्हें बचाने की अपील करती है !
स्थानीय लोगों लोगों ने इस मामले की शिकायत जिला पदाधिकरी एवं पुलिस अधीक्षक को किया जिसके बाद आनन फानन मे जाँच भी हुआ पर नतीजा सिफर रहा ! दरअसल मधुबनी बालिका गृह के संरक्षण का आरोप जदयू के एक बड़े नेता पर लगते आया है ! हम बता दे की मधुबनी से 2017 से 2018 तक छह बच्ची गायब हो चुकी है इसके अलावा दो बच्ची का मौत भी हो गया लेकिन ताज्जुब की बात है की उन बच्चियों का पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जानकारी किसी पदाधिकारी को नहीं है ! स्थानीय युवा ने बताया की रात होते ही बालिका गृह के अंदर गाडी जाती है और रात में ही निकल जाती है ! वही स्थानीय समाजसेवी हनुमान प्रसाद ने बताया की संस्था को कही अन्यंत्र सिफत कर देना चाहिए ! वही एक आदमी तो कैमरा को देखकर इतना घबरा गया की उसने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया ! 

CWC के पूर्व सदस्य पहले ही संस्था के प्रति अपना सक जाहिर कर चुके है ! मधुबनी से गायब होने वाली बच्चियों में मुजफ्फरपुर की कथित वह गूंगी बच्ची भी गायब है जिसके ब्रजेश ठाकुर का मुख्य राजदार बताया जा रहा है ! बालिका गृह के संचालिका का पति मामले को दवाने का भरपूर प्रयत्न कर रहे है इसके लिए वे स्थानीय लोगो को धमकाने के अलावे दो समाजसेवियों पर पुलिस में शिकायत भी दर्ज करा चुके है ! जब आजतक की टीम इस खबर को कभर करने पहुंची तो संचालिका का पति भी गेट पर पहुंच गया था और जिसके डर से कई लोग वहा से भाग गए ! मुकेश पँजियार ने बताया की हमलोग संस्था में हो रहे गड़वड़ी के विरोध में बैठक करने पहुंचे थे लेकिन उनलोगो को इस बात की पहले खबर लग गयी थी और जैसे ही हम वहा पहुंचे मेरे साथ मारपीट करने लगा ! सबसे ताज्जुब की बात है पुलिस या किसी वरीय पदाधिकारी ने इस मामले में मीडिया से बात करने से इंकार कर दिया है ! .

पूर्व से ही सक के दायरे में चल रहे बालिका गृह का मामला अब तूल पकड़ने लगा है ! लोग डरते हुए ही सही लेकिन अब आवाज उठाने लगे है और संस्था के अंदर होने वाले अनैतिक कार्यो का विरोध करने लगे है ! फिलहाल जांच के नाम पर कोई मधुबनी के बाल संरक्षण पदाधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है ! देखना है पुलिसिया कारवाई में क्या नतीजा निकलता है !

No comments