Latest

औचक निरिक्षण में झंझारपुर पंहुचे डीएम ने कर्मियों की लगाई क्लास


सरफराज सिद्दीकी : गुरुवार को नव पदस्थापित जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने झंझारपुर प्रखण्ड व अंचल कार्यालय का औचक निरीक्षण किया. डीएम की गाड़ी दिन के लगभग 11 बजे झंझारपुर प्रखंड में अचानक पहुंची. डीएम गाड़ी से उतरकर सीधे प्रखंड कार्यालय में गए. उनके पीछे झंझारपुर के एसडीओ विमल कुमार मंडल व एएसपी निधि रानी भी साथ थी. डीएम ने बारी- बारी प्रखण्ड, अंचल कार्यालय से लेकर आरटीपीएस, टीपीसी भवन, ई किसान भवन, एसएफसी गोदाम व बीआरसी में संचालित प्रखण्ड शिक्षा अधिकारी के कार्यालय का निरीक्षण किया. निरीक्षण में जहां प्रखण्ड कार्यालय के पांच कर्मचारी व अंचल कार्यालय के चार कर्मचारी अनुपस्थित पाये गए, वहीं बीईओ भी गैर हाजिर थे. डीएम ने अनुपस्थित सभी कर्मियों के वेतन स्थगित करते हुए स्पष्टीकरण मांगने का आदेश दिया है. उन्होंने एसडीओ को बीईओ का भी वेतन स्थगित कर उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई का प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया है. डीएम ने पत्रकारों से बातचीत में प्रखण्ड व अंचल कार्यालय से लेकर बीईओ कार्यालय के काम काज पर गहरा असंतोष जताया है. डीएम की मानें तो यहां के किसी कार्यालय में कार्य संस्कृति ठीक नहीं है. औचक निरीक्षण को पहुंचे डीएम सबसे पहले बीडीओ व सीओ को खोजा, लेकिन दोनों अधिकारी गैरहाजिर थे. पूछने पर कर्मियों ने दोनों के किसी ट्रेनिंग में जाने की बात कही। इसके बाद वे प्रखण्ड के प्रधान सहायक के कक्ष में घुसे और कक्ष खाली देख बिफर उठे. उन्होंने तत्काल वहीं पर प्रखण्ड व अंचल कार्यालय के कर्मियों की उपस्थिति पंजी मंगायी. उपस्थिति पंजी में गैरहाजिर कर्मियों के हाजिरी को काट दिया. डीएम प्रधान सहायक के कक्ष में छज्जा पर बेतरतीब रखे अभिलेखों को देख भड़क उठे और सख्त नाराजगी जतायी. वहां से निकल डीएम पर्यवेक्षक कक्ष में गए और फिर प्रखण्ड कार्यालय के सहायकों के कक्ष का जायजा लिया. करीब 20 मिनट तक प्रखण्ड कार्यालय की कार्यसंस्कृति का जायजा लेने के बाद डीएम बगल में स्थित अंचल कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे। वहां का भी हाल ठीक नहीं था। इसके बाद उन्होंने अंचल कार्यालय के भवन में ही एक रुम में संचालित आरटीपीएस काउण्टर का भी जायजा लिया। 10 मिनट तक अंचल में रहने के बाद डीएम टीपीसी, ई किसान भवन और फिर एसएफसी गोदाम का भी जायजा लिया। टीपीसी भवन के एक रुम में संचालित आधार सेन्टर का निरीक्षण कर वहां के काम काज का जायजा लिया. सबसे अंत में डीएम बीआरसी भवन पर पहुंचे और वहां बच्चों के लिए भेजी गई पुस्तकों के रखरखाव का बदतर हाल देख भौचक्क रह गए और सख्त नाराजगी जताते हुए एसडीओ को शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने को कहा. साथ ही बीईओ का वेतन स्थगित कर विभागीय कार्रवाई का प्रस्ताव भेजने का आदेश एसडीओ को दिया. निरीक्षण में ये कर्मी मिले गैरहाजिर  डीएम के निरीक्षण में अनुपस्थित पाये गए कर्मियों में प्रखण्ड की महिला प्रसार पर्यवेक्षिका रेणु कुमारी, प्रखण्ड समन्वयक अशोक कुमार झा, कार्यपालक सहायक अमित कुमार, राज कुमार, कार्यालय परिचारी किशोरी मंडल, अंचल कार्यालय के संविदा लिपिक योगेन्द्र मोची, संविदा अमीन राधे प्रसाद यादव, कार्यालय परिचारी मो रहमतुल्ला व राम विलास पासवान शामिल हैं.  बायोमेट्रिक एटेडेंस की होगी व्यवस्था डीएम ने कहा है कि अधिकारी से लेकर कर्मियों तक की कार्यसंस्कृति व उपस्थिति में सुधार लाने के लिए यहां वायोमेट्रिक एटेन्डेस बनाने की व्यवस्था की जा रही है. साथ ही कार्यालयों में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी मरम्मति कर चालू कराया जाएगा.

No comments