मधुबनी खादी मेला 60 लाख के बिके खादी वस्त्र व अन्य ग्रामोद्योग उत्पाद



पटना डेस्क:

मधुबनी के टाउन हॉल में 27 जनवरी 2024 से चल रहे 10 दिवसीय खादी मेला-सह उद्यमी बाज़ार का समापन सोमवार को हुआ। समापन समारोह में बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी दिलीप कुमार ने कहा कि बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड एवं जिला उद्योग केंद्र, मधुबनी के संयुक्त प्रयास से आयोजित खादी मेला का समापन सफलतापूर्वक से हुआ।10 दिनों तक लगातार लोगों में खादी एवं ग्रामोद्योग के उत्पादों को खरीदने का जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। मधुबनी के टाउन हॉल में आयोजित इस मेले में 10 दिनों की कुल बिक्री क़रीब 60 लाख की हुई। मेले के दो अंतिम दिन, रविवार और सोमवार को खूब भीड़ देखने को मिली।यह मेला बिहार के बुनकरों, कारीगरों व हस्तशिल्पियों को एक मंच देता है। इस मेले से कारीगरों व बुनकरों की एक विशिष्ट पहचान बनी है।



खादी मेला प्रभारी अभय कुमार सिंह ने बताया कि सोमवार  को मेले का समापन समारोह आयोजित किया गया।इस अवसर पर सभी प्रतिभागी संस्थाओं को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए। खादी मेला में विभिन्न जिलों के खादी व ग्राम उद्योग के उत्पाद की प्रदर्शनी लगी थी पर इस बार मेला में सबसे सर्वाधिक बिक्री खादी और खादी वूलेन कपड़ों की हुई है।खादी की खासियत यह है कि यह ठंड में शरीर को गर्मी और गर्मियों में शरीर को ठंड प्रदान करती है। साथ ही खादी कपड़ा स्किन-फ्रेंडली होता है जिससे लोग खादी के कपड़ों को ज़्यादा पसंद करते है।विभिन्न जिलों में आयोजित खादी ग्राम उद्योग मेला को पूरे प्रदेश वासियों का प्यार और स्नेह मिलता आया है।उत्पादों में विविधता और स्वदेशी विचार होने के कारण यह मेला बिहार और राज्य के बाहर भी बहुत लोकप्रिय है।

Comments

Popular posts from this blog

लव सेक्स और धोखा, भाजपा विधायक के भाई पर आरोप

कबड्डी टूर्नामेन्ट का होगा आयोजन :खेल

मजनू मुक्त समाज बनाने में जुटा है हरलाखी विधानसभा : सामाजिक