Latest

बाढ़ से हुए क्षति सर्वेक्षण को ले मुखिया ने जताई नाराजगी


हरलाखी प्रखंड क्षेत्र में आये विनाशकारी बाढ़ से हुए फसल छती एवं घर के छति के सर्वेक्षण को लेकर कई पंचायत के मुखिया ने अपना नाराजगी जताया है. नाराज मुखिया में बिटुहर पंचायत के मुखिया रमेश मिश्र, हरलाखी के दयानंद झा, करुणा पंचायत के रंजना देवी, फुलहर के बनारसी देवी सिसौनी के विनय कुमार कर्ण, सोनई के राकेश ठाकुर, झिटकी के ललटु मंडल, नहरनियां पंचायत के रेनू देवी सहित दर्जनों मुखिया ने बताया कि निचले स्तर के अधिकारी जिलापदाधिकारी के निर्देश के विपरीत बाढ़ से हुए छती का सर्वेक्षण कर रहे है. उनलोगों का आरोप है पंचायत के कई लोगों का घर पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त होने के बाबजूद उसे आंशिक क्षति करार दिया जा रहा है ! इस मामले को लेकर दर्जनों मुखिया ने अपना आक्रोश जताया है. उनका कहना है की जिलापदाधिकारी के चिट्ठी में स्पस्ट निर्देश दिए गए है कि जिन लोगों का घर व फसल पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त है. उन सभी पीड़ित परिवार को पूर्ण क्षति के आधार से मुआवजा दिया जायेगा. परन्तु सर्वेक्षक ऐसा नहीं कर रहे है ! सभी मुखिया ने वरीय पदाधिकारी से छतिग्रस्त फसलों एवं छतिग्रस्त आवास को पूर्ण क्षति के आधार से मुआवजा देने की मांग की है. वहीं हरलाखी प्रखंड प्रमुख राकेश कुमार पांडेय ने बताया कि हरलाखी में क्षति की सूचि बनाने में जनप्रतिनिधियों की भागीदारी नहीं होना दुखद है. उन्होंने पंचायत में हुये क्षति के आंकलन में जनप्रतिनिधि को शामिल नहीं करने पर खेद जताया है. प्रमुख ने जिलापदाधिकारी से हरलाखी में छती के सूचि में संसोधन करने की मांग की है. इस संबंध में बेनीपट्टी एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि जिन लोगों के फसल व घर पूर्ण रूप से छतिग्रस्त होगा उनको पूर्ण छती का मुआवजा दिया जायेगा.

No comments