Latest

बाढ़ राहत शिविर में महिला ने दिया बच्चे को जन्म


बिन्देश्वर चौधरी : अंधराठाढ़ी 

नवजात को बुखार

तैनात चिकित्सा टीम इस बात से अनजान

सामने आई तैनात मेडिकल टीम की असंवेदनशीलता

राहत शिविरोंमें रह रहे बाढ़ पीड़ित अनेक विकट समस्याओं को झेल रहे हैं । अंधराठाढ़ी प्रखंड के इकलौते बाढ़ राहत शिविर में रह रही एक महिला ने गुरुवार की रात एक बच्चे को जन्म दिया। प्रखंड के गंधरैन चौक के रानी काम्प्लेक्स में बाढ़ राहत शिविर चल रही है। इस शिविर में  गंधरैन धांगर टोला के बाढ़ पीड़ित तकरीबन 200 लोग रह रहें हैं।यहाँ प्रखंड प्रशासन की ओर से दोनों शाम खाना और रहने का प्रबंध किया गया है। इस शिविर में रह रही मीनाक्षी देवी, उम्र 25 वर्ष , को गुरुवार के दिन में प्रसव पीड़ा हुई। आनन फानन में उसे स्थानीय रेफरल अस्पताल ले जाया गया। वहां उसने एक बेटे को जन्म दिया। प्रसव के बाद उसे पुनः राहत शिविर में वापस  लाया गया। शुक्रवार को राहत शिविर का जायजा लेने के लिए पहुंचे प्रेस प्रतिनिधियों ने जच्चा बच्चा का हाल पूछा। माँ मीनाक्षी ने खुलासा किया कि नवजात को बुखार है। प्रेस प्रतिनिधियों ने शिविर में कैम्प कर रहे डॉक्टरों को इसकी सूचना दी। आश्चर्य की बात है कि कैम्प कर रहे चिकित्सक टीम इस बात से अंजाम थे । क्या यह साबित नहीँ करता है कि या तो तैनात चिकित्साकर्मी शिविर में रह रहे बाढ़ पीड़ितों के प्रति असंवेदनशील हैं या अपने कार्य के प्रति उदासीन हैं । शिविर में रहने महिला ने दिया बच्चे को जन्म

नवजात को बुखार

तैनात चिकित्सा टीम इस बात से अनजान

सामने आई तैनात मेडिकल टीम की असंवेदनशीलता


बिन्देश्वर चौधरी : अंधराठाढ़ी 


राहत शिविरोंमें रह रहे बाढ़ पीड़ित अनेक विकट समस्याओं को झेल रहे हैं । अंधराठाढ़ी प्रखंड के इकलौते बाढ़ राहत शिविर में रह रही एक महिला ने गुरुवार की रात एक बच्चे को जन्म दिया। प्रखंड के गंधरैन चौक के रानी काम्प्लेक्स में बाढ़ राहत शिविर चल रही है। इस शिविर में  गंधरैन धांगर टोला के बाढ़ पीड़ित तकरीबन 200 लोग रह रहें हैं।यहाँ प्रखंड प्रशासन की ओर से दोनों शाम खाना और रहने का प्रबंध किया गया है। इस शिविर में रह रही मीनाक्षी देवी, उम्र 25 वर्ष , को गुरुवार के दिन में प्रसव पीड़ा हुई। आनन फानन में उसे स्थानीय रेफरल अस्पताल ले जाया गया। वहां उसने एक बेटे को जन्म दिया। प्रसव के बाद उसे पुनः राहत शिविर में वापस  लाया गया। शुक्रवार को राहत शिविर का जायजा लेने के लिए पहुंचे प्रेस प्रतिनिधियों ने जच्चा बच्चा का हाल पूछा। माँ मीनाक्षी ने खुलासा किया कि नवजात को बुखार है। प्रेस प्रतिनिधियों ने शिविर में कैम्प कर रहे डॉक्टरों को इसकी सूचना दी। आश्चर्य की बात है कि कैम्प कर रहे चिकित्सक टीम इस बात से अंजाम थे । क्या यह साबित नहीँ करता है कि या तो तैनात चिकित्साकर्मी शिविर में रह रहे बाढ़ पीड़ितों के प्रति असंवेदनशील हैं या अपने कार्य के प्रति उदासीन हैं ।

No comments