Latest

इस थाना क्षेत्र में शराब को तारी पिने का मामला बनाना है नजराना देना पडेगा

न्यूज़ डेस्क पटना 
यु तो बिहार में शराब और तारी पर प्रतिबंध है लेकिन मधुबनी जिले के मधेपुर थाना में ऐसा कुछ नहीं है ! पिए हुए पकड़े गए तो पैसा खर्च करना पडेगा और आपको रिहाई मिल जायेगी ! मेडिकल में भी आपको फायदा मिल जाएगा बस उसे भी कुछ नजराना देना पडेगा ! इस आरोप का आधार थोड़ा पुराना है लेकिन गंभीर है ! मधेपुर पश्चमि पंचायत के संघत चौक निवासी भागवत साहू ने आरोप लगाया की मेरे पुत्र की शादी में मेरे दामाद आये हुए थे जिन्होंने तारी पि रखी थी जिसे गुप्ता जी नाम के एक पुलिस पदाधिकारी ने गिरफ्तार कर लिया और काफी धमकाया, और कहा अब ले जाओ अपने दामाद को बाराती, देखता हु कैसे बाराती ले जाओगे ! मेडिकल हुआ तो पाया गया वह अल्कोहलिक है फिर सुरु हुआ मोल-भाव ! 

एक लाख का डिमांड हुआ था आखिरकार पचहत्तर हजार में फाइनल हुआ और छह बजे सुबह में छोड़ दिया गया ! भागवत साहू ने ये भी आरोप लगाया है की पैसे लेने के वक्त उन्हें कहा गया की पांच हजार रुपया अस्पताल को देने होंगे बाकी के पैसे वह लेगा ! भागवत साहू का वयान वाला वीडियो एवं उनके लिखित आबेदन शोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है ! भागवत साहू ने अपने शिकायत की कॉपी पुलिस अधीक्षक को भी भेजी है हालांकि मामले में कोई कारवाई नहीं हुआ और साथ ही थाना प्रभारी अमित कुमार ने सभी आरोप को बेबुनियाद बताया है ! 

थाना प्रभारी ने कहा आरोपी का मेडिकल में तारी पिने की पुष्टि हुई है ! अब हमें तो नहीं पता की मिनटों में कौन से मेडिकल साइंस यह तय कर देता है की आदमी ने तारी पीया है या अन्य कोई अल्कोहल लेकिन कमाल का ऑन द स्पॉट फैसला चर्चा का विषय है ! वैसे बिहार में तारी पिने पर भी प्रतिबन्ध है लेकिन मधेपुर में शायद यह छूट के दायरे में आता है !

No comments