Latest

खिरहर के ग्रामीणों ने प्रखंड कार्यालय में की तालेबंदी, सीओ समेत अन्य कर्मी को बनाया बंधक


प्रखंड कार्यालय पर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया और प्रखंड कार्यालय में तालाबंदी कर दिया ! मामला हरलाखी प्रखंड का है ! दरअसल खिरहर पंचायत के ग्रामीण मुखिया विकास मिश्रा के नेतृत्व में प्रखंड मुख्यालय पहुंच प्रखंड कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान ग्रामीण ने प्रखंड कार्यालय के दोनों मुख्यद्वार में तालेबंदी कर सीओ समेत अन्य प्रखंड कर्मी को बंधक बना लिया। सीओ शशिभूषण प्रसाद सिंह समेत अन्य कर्मी अपने कार्यालय में ही कई घंटे बंद रहे।

मधुबनी मीडिया की खबरों के लिए पेज Like करें.

आक्रोशित ग्रामीण विभिन्न मांग को लेकर तालेबंदी कर कार्यालय पर धरना देकर बैठ गए। धरना के क्रम में मुर्दाबाद व मनमानी नहीं चलेगी के जोरदार नारे भी लगाए। ग्रामीणों की मांग में बकाए वृद्धावस्था व विधवा पेंशन की राशि शीघ्र खाते में भेजने,  हर परिवार को किरासन तेल देना सुनिश्चित करने, शौचालय निर्माण का पैसा भुगतान करने, वार्ड स्तर पर नहीं बल्कि 25 शौचालय निर्माण हो तो उसका भुगतान सुनिश्चित करने, राशन कार्ड के लिए दिए गए आवेदन की सूचि उपलब्ध करने के साथ आवेदन की प्राप्ति रशीद पर ही राशन देने, इंदिरा/पीएम आवास की सूचि उपलब्ध करने तथा दूसरे क़िस्त का भुगतान जल्द करने, एपीएल व बीपीएल दोनों परिवार को वृद्धावस्था पेशन का लाभ देने, जविप्र के पास आवंटन व वितरण सूचि उपलब्ध करने एवं बिना ग्राम पंचायत के हस्ताक्षर के वितरण नहीं करने तथा वृद्धावस्था व विधवा पेंशन के लिए पंचायत में ही शिविर लगाने समेत मांग शामिल है। 
धरना को संबोधित करते हुए खिरहर मुखिया सह मुखिया महासंघ के अध्यक्ष विकास मिश्रा ने कहा कि आज प्रखंड के पदाधिकारी के मनमानी के कारण आम जनता को फजीहत झेलनी पड़ रही है। एक काम के लिए आवेदको को कई बार प्रखंड कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ रहा है। बीडीओ हर योजना में सीधा तुगलक फरमान जारी कर देते है। जिससे गरीब जनता को भारी परेशानी होती है। इसलिए जबतक इन गरीब लोगो की मांग को स्वीकार नही किया जाएगा, तबतक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। धरना में उप मुखिया रामश्रेष्ठ कामत, पंचायत समिति सदस्य रामप्रवेश मिश्रा, झिटकी के मुखिया ललटू मंडल, महेश मंडल, रामचंद्र पासवान, राकेश चौधरी, महासुंदरी देवी, राजकुमारी देवी, सुतिया देवी, सिया देवी, कारी देवी, कुमोदिया देवी व रीना कुमारी समेत अन्य ग्रामीण शामिल थे।

No comments