Latest

मानवता हुआ शर्मसार मरने के बाद भी नसीब नहीं हुआ एम्बुलेंस


मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना मधुबनी में सामने आई है । जहाँ आईएसओ मान्यता प्राप्त मधुबनी सदर अस्पताल में एम्बुलेस मुहैय्या नही कराए जाने के बाद  परिजनों ने मृतक के शव को कार की छत पर बांधा और दांह संस्कार के लिए निकल पड़े । यह तस्वीर आपको विचलित कर देगी । दरअसल 72 वर्षीय नवीन्द्र झा की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी । वे फुलपरास थानाक्षेत्र के सिजौलिया गांव के रहने वाले थे । घटना के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे कर उसे पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा । जहाँ शव का पोस्टमार्टम कराया गया जिसके बाद जब शव को ले जाने की बारी आई तो परिजनों को एम्बुलेंस या कोई वाहन मुहैय्या नहीं कराया गया ।  मजबूरन उनके बेटे ने एक बोलेरो किराए पर लिया लेकिन ड्राइवर ने शव को कार के अंदर ले जाने से मना कर दिया जिसके बाद मजबुरन उनके बेटे को शव बोलेरो के छत पर बांधना पड़ा । मृतक के पुत्र ने बताया कि उन्होने  अस्पताल से एम्बुलेंस की मांग की थी लेकिन उन्हे मुहैय्या नही कराया गया । यह हाल तब है जब सरकार एम्बुलेंस संचालन के लिए नई एजेंसी को बहाल कर रखा है और  एम्बुलेंस मेंटेनेंस के लिए इस एजेन्सी को मोटी रकम भी चुकता कर रहा है । 

No comments