Latest

नीतीश जी के पाठशाला में ना तो बच्चे है और ना ही शिक्षक :शिक्षा


प्रवीण ठाकुर :बासोपट्टी 
बासोपट्टी प्रखंड क्षेत्र के मेहतरपट्टी गाँव स्थित राजकृत मध्य विधालय में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक बच्चों के भविष्य को लेकर काफी चिंतित है ! स्कूल में सात सौ से अधिक बच्चे नामांकित पर विधालय में कभी भी दस बीस बच्चे से ज्यादा नजर नहीं आता है ! पठन पाठन की स्थिति ठप्प पड़ा हुआ है ! प्रभारी प्रधानाध्यापक विधालय में कम और बाजार में अधिक नजर आते है ! बीआरसी में काम का बहाना बनाकर हमेशा बाहर ही घूमते रहते है ! पाँच शिक्षक वाले मध्य विधालय में एक मात्र महिला शिक्षिका उपस्थित नजर आती है ! वैसे इस विधालय का चर्चा प्रखंड अनुमंडल सहित जिलाभर में सदैव बना रहता है ! आये दिन कोई न कोई अभिभावक लोक जनशिकायत कार्यालय,प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय, अनुमंडल पदाधिकारी कार्यालय सहित जिला पदाधिकारी कार्यालय का चक्कर लगाते रहते है ! लेकिन उनलोगों को आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिल पाता है ! अभिभावक अनिसुल राईन बताते है की हमलोग करीब एक साल से तमाम कार्यालय का चक्कर लगा रहे है लेकिन कही पैरवी और कहीं पैसे के बल पर हमारे शिकायत को दबा दिया जाता है ! ऐसा ही मामला इसी गाँव के निकट राजकीय प्राथमिक विधालय नयकाटोल वीरपुर का है ! यहाँ 220 बच्चे पढ़ते है पर विधालय में तीस चालीस बच्चे से अधिक नजर नहीं आते है !विधालय में दो शिक्षक है ! बच्चों से पूछने पर बताया की हमारे स्कूल में इतना ही छात्र छात्रा उपस्थित रहते है ! यहाँ भी अन्य विधालय के तरह ढाई बजे के बाद हाजरी बनाया जाता है एवं शिक्षक का अधिकतर समय बाजार और बीआरसी के चक्कर लगाने में ख़त्म हो जाते है ! इस बाबत प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से दूरभाष पर संपर्क करने का प्रयत्न किया परन्तु उनका मोबाइल बंद मिला ! बीआरपी ललित यादव ने मामले की जांच करने की बात कहा है !

No comments